पर्यावरण संरक्षण अभियान की शुरुआत करने चार दिन विदेश यात्रा पर सपत्नी रवाना हुए पर्यावरणविद कौशल किशोर, पर्यावरण धर्म के तहत यात्रा का शुभारंभ करने से पूर्व डीसी को पौधा देकर किया स्वागत |Environmentalist made children aware about environmental religion by planting saplings in Delhi school

Dhananjay Tiwari
By -
0

पलामू। मेदिनीनगर के टाउन हॉल में गुरुवार को और दिल्ली के पहाडगंज के राजकीय कन्या विद्यालय में शनिवार को विश्व व्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पर्यावरण धर्मगुरु व वनरखी राखी मूवमेंट के प्रणेता पर्यावरणविद कौशल किशोर जायसवाल व पंचायत डाली बाजार के मुखिया पूनम जायसवाल ने निःशुल्क पौधा वितरण सह रोपण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि निःशुल्क पौधा वितरण व रोपण के  57 वां वर्ष और पर्यावरण धर्म व वन राखी मूवमेंट के 47 वां वर्ष पुरा होने के उपरांत इस वर्ष भी पांच देशों और देश के 10 राज्यों में अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है।। इस दौरान लोगों  को पर्यावरण धर्म  व वन राखी मूवमेंट की जानकारी उपलब्ध कराते हुए पौधरोपण कर  हम प्रदूषण दूर कर पर्यावरण व प्रकृति की रक्षा करेंगे। इतना ही नहीं इस अभियान के तहत लोगों को जलवायु परिवर्तन,  भीषण गर्मी और जल संकट पर काबू पाने के तरीकों को बताकर जागरूक किया जाएगा। ताकि  ग्लोबल वार्मिंग की कहर से उन्हें बचाया जा सके। 
पिछले वर्ष  इस अभियान का शुभारंभ सिंगापुर और मलेशिया में पौधा रोपण और वृक्षों पर रक्षाबंधन कर किया गया था। इस वर्ष रशियन कंट्री के अज़हरबाजान देश के राजधानी बाकू से पौधा रोपण व  रक्षाबंधन कर अभियान का शुभारंभ किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान  राष्ट्रीय अध्यक्ष का भी चयन किया जाएगा ताकि पर्यावरण धर्म का प्रचार अभियान पूरे विश्व में किया जा सके।
वन राखी मूवमेंट के प्रणेता  कौशल ने पर्यावरण धर्म के तहत उपहार स्वरूप हिंदुस्तान का पांच प्रजाति के 10 पौधे अज़रबाईजान देश के लोगों को देंगे।  जिसमें कल्पतरु, सफेद चंदन , लाल चंदन, कपूर, और थाईलैंड प्रजाति के आम का पौधा शामिल है।
पर्यावरण धर्म गुरु कौशल ने कहा है कि लोगों को जिन्दा रहना है तो और आने वाले पीढ़ी को जल संकट , भीषण गर्मी ,जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण जैसी महान शत्रु से मुक्ति पाना है तो उन्हें अपना धर्म के साथ- पर्यावरण धर्म के 8 मूल ज्ञान मंत्रों  को दुनिया के तमाम लोगों को अपने दिनचर्या में शामिल करना होगा।
विद्यालय के इंचार्ज रुचि बजाज ने इस नेक कार्य के लिए पर्यावरण विद् कौशल और मुखिया पूनम को बधाई दी। उन्होनें अपने संबोधन में कहा कि    कौशल किशोर जायसवाल जैसा सपूत को जन्म देकर झारखंड की धरती पवित्र हो गयी है।   
 इस कार्यक्रम में ग्राम पंचायत डाली बाजार के मुखिया सह संस्था के प्रधान सचिव पूनम जायसवाल, सूरज कुमार जायसवाल, स्कूल के शिक्षिका में पिंकी, विधि, अंजू, सुमन, प्रतिभा, निशा आदि लोग शामिल थे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें (0)