पेयजल समस्या का जल्द समाधान हो नही तो बड़े आंदोलन को तैयार है पलामू : आशीष भारद्वाज |No water, no vote, give water to Palamu

Dhananjay Tiwari
By -
0

"पानी नहीं तो वोट नहीं", "पलामू को पानी दो", "कोयल नदी पर बराज बनाओ" के उदघोष के साथ शुक्रवार को विगत पंद्रह दिनों से लगातार  चल रहे पानी यात्रा के पहले चरण को विराम दिया गया। शहर में व्याप्त भीषण पेयजल संकट के विरोध में स्थानीय डा राजेन्द्र प्रसाद चौक(छहमुहान)पर घड़ा,तसला, बाल्टी, नाद, गैलन आदि जल संचय के पारंपरिक वस्तु के साथ हमे हमारा पानी दो, हमारे आहर, पोखर, तालाब को अतिक्रमण मुक्त करो, हमे पीने का पानी दो के उदघोष के साथ शुक्रवार को पानी यात्रा के पहले चरण को विराम दिया गया। छःमुहान चौक के प्रदर्शन के पश्चात शहर के बाज़ार एरिया के विभिन्न मार्गों से होकर शहीद भगत सिंह चौक पर प्रर्दशन का समापन किया गया। समापन के पूर्व शहीद भगत सिंह के प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए क्रांतिकारी संकल्प लिया गया की जो पानी देगा उसी को वोट देना है, आंदोलन के पहले चरण के पश्चात अगर प्रतिनिधि और सरकार पेयजल संकट मामले का समुचित समाधान नहीं करते है तो पलामू में पेयजल को लेकर उग्र और चरणबद्ध आंदोलन होगा। युवाओं के टीम का नेतृत्व कर रहे पलामू पुत्र आशीष भारद्वाज ने कहा कि विधानसभा व नगरनिगम चुनाव लड़ने वाले सभी प्रत्याशियों को पेयजल आपूर्ति पर ठोस कदम उठाना होगा। उन्हें अपने घोषणापत्र में पेयजल उपलब्ध कराने को पहला प्राथमिकता देना होगा नहीं तो पेयजल संकट झेल रहे शहरवासियों का आक्रोश झेलना पड़ेगा। श्री भारद्वाज ने कहा की ये "पानी यात्रा" किसी व्यक्ति विशेष का नहीं ये संपूर्ण पलामू का माँग है। आज शहर का नबे फ़ीसदी भाग पेयजल संकट से जूझ रहा है, कोई हमारा सुध लेने वाला नहीं है। जीतने बब्बर शेर भाईयों, साथियों ने पानी यात्रा के संकल्प को पूरा किया है सभी बहादुर है, शहर से प्रेम करते है, उनको पलामू सदा याद रखेगा। जब पेयजल संकट का त्राहिमाम मचा था तो उन्होंने  हाथ पर हाथ धरकर बैठने के जगह लड़ने के रास्ते को चुना, सभी भाईयों ने इतिहास लिखा है। जब भी पलामू के धरती पर बदलाओ की बात होगी सभी पानी यात्रियों का नाम लिया जाएगा। हमारे यात्रा के दौरान चलाये गये हस्ताक्षर सह जनजागरण अभियान के तहत संकलित सभी मामलो को लेकर हम बहुत जल्द अपने जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों और मुख्यमंत्री जी से मुलाक़ात कर पेयजल संकट के सीमित समय में समाधान करने का ज्ञापन देंगे। अंतिम दिन के "पानी यात्रा" का मार्ग भ्रमण के दौरान शहर के विभिन्न मार्गों में पानी यात्रियों का पुष्प वर्षा से नगर वसियों के द्वारा स्वागत किया गया। बताते चलें की मेंदिनीनगर नगरनिगम क्षेत्र के युवाओं ने एक टीम गठित कर पूरे निगम क्षेत्रवासियों के बीच पहुंचकर उनकी समस्या को नजदीक से देखने का प्रयास किया।15 दिनों से चल रहे इस अभियान में शहर के लगभग ड्राई जोन एरिया का दौरा किया गया। पानी यात्रा के विराम दिवस के दिन शैलेश तिवारी, सोनू नामधारी, बबलू चावला,नवीन तिवारी, मुकेश तिवारी, पिंकू तिवारी, साहेब सिंह नामधारी, मनीष सिंह, धनंजय सोनी, निरंजन मेहता, शशांक सुमन, आनंद दूबे, ज्ञानेश तिवारी, राकेश तिवारी, सोनू पांडेय, बीरमणी तिवारी, आशा शर्मा, संध्या शेखर,शालिनी श्रीवास्तव, वैजन्ती जी, वीणा जी, इंदू तिवारी, फोटू दूबे, शिशु दूबे, अमीत सिन्हा, मनीष तिवारी, संदीप प्रसाद, दीपक प्रसाद, आकाश विश्वकर्मा, राहुल गुप्ता, सूरज सिंह, प्रभात सिंह, चंद्रकांत सिंह, अंकित आरंभ शुक्ला,राजन पंडित, अविनाश पंडित, रौशन तिवारी, रिशु दूबे, संजीत तिवारी के साथ शहर के सैकड़ों महिला, पुरुष व युवाओं के द्वारा जोरदार प्रदर्शन किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें (0)